Connect with us

Poll

Poll: नाई जाति को क्या SC में शामिल किया जाना चाहिये, राये दें

Published

on

यूपी में योगी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। योगी सरकार ने 17 पिछड़ी जातियों (OBC) को अनुसूचित जातियों (SC) की सूची में शामिल कर दिया है। सैन अथवा नाई समाज के कई संगठन भी एससी में शामिल किये जाने की मांग कर रहे हैं।

पिछड़ी जातियां निषाद, बिंद, मल्लाह, केवट, कश्यप, भर, धीवर, बाथम, मछुआरा, प्रजापति, राजभर, कहार, कुम्हार, धीमर, मांझी, तुरहा, गौड़ इत्यादि हैं, जिन्हें एससी में शामिल किया है। यूपी में नाई जाति को भी SC में शामिल किये जाने की मांग लंबे समय से की जा रही है। इस संबंध में कई ज्ञापन भी दिये गये। सैन अथवा नाई समाज को एससी में शामिल किये जाने पर आपकी क्या राय है?

Coming Soon
यूपी में क्या नाई जाति को SC में शामिल किया जाना चाहिये?
यूपी में क्या नाई जाति को SC में शामिल किया जाना चाहिये?
यूपी में क्या नाई जाति को SC में शामिल किया जाना चाहिये?

सैन (नाई) समाज के ताजा सामाचार प्राप्त करने के लिये फेसबुक पर लाइक करें और ट्विटर पर फॉलो करें। सैन समाज से जुड़ी जानकारी एवं समाचार आप हमारे माध्यम से पूरे समाज के साथ शेयर करें। यदि आपके पास कोई जानकारी या सूचना है तो हमें आवश्य भेजे।

Spread the love
Advertisement
12 Comments

12 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Poll

केश कला बोर्ड के गठन पर आपकी क्या राय है?

Published

on

केश कला बोर्ड का गठन कुछ प्रदेशों में हो चुका है। कुछ प्रदेशों में गठन की मांग की जा रही है। बोर्ड के कामकाज को लेकर कई तरह के विवाद भी सामने आ रहे हैं। इस बार का सवाल है, केशकला बोर्ड का फायदा सैन समाज को मिल रहा है अथवा नहीं? आप अपने विचार अथवा सुझाव विस्तार से नीचे कमेंट बॉक्स लिख सकते है अथवा हमें वाट्सएप नंबर 8003060800 पर भी भेज सकते है।

Coming Soon
आपकी राय में केशकला बोर्ड का फायदा सैन समाज को मिल रहा है?
आपकी राय में केशकला बोर्ड का फायदा सैन समाज को मिल रहा है?
आपकी राय में केशकला बोर्ड का फायदा सैन समाज को मिल रहा है?

सैन महाराज पर फिल्म, मुख्य किरदार हो सकते है ‘साईं बाबा’

सैन मंदिर के जीर्णोद्धार के लिये आगे आये भामाशाह

Spread the love
Continue Reading
Advertisement

Facebook

कुलदेवी

My Kuldevi11 months ago

श्रीबाण माता को कुलदेवी के रूप में पूजते है ये परिवार

श्री बाण माता का मुख्य मंदिर राजस्थान के चित्तौड़गढ़ में स्थित है। ब्राह्मणी माता, बायण माता और बाणेश्वरी माता जी...

Feature2 years ago

जमवाय माता को सैन समाज के कई परिवार मानते है कुलदेवी

जमवाय माता भगवान राम के पुत्र कुश के वंश कछवाहा की कुलदेवी है। सैन समाज में कुछ परिवार ऐसे हैं...

Feature2 years ago

सैन समाज के कई परिवारों की कुलदेवी है जीण माता

जीण माता कई परिवार एवं गोत्रों की कुलदेवी है। सैन समाज में भी कई गोत्र ऐसे हैं जो जीण भवानी...

Feature2 years ago

गलाना गांव में है इस गोत्र की कुलदेवी का प्राचीन मंदिर

गलाना गांव में  प्राचीन मंदिर आस्था का केंद्र है। यह गांव कोटा में जिला मुख्यालय से करीब 18 किमी दूर...

Feature2 years ago

भादरिया माता को कुलदेवी के रूप में पूजते है ये

श्री भादरिया माता का मंदिर जन-जन की आस्था का केंद्र है। विभिन्न समाजों में कई परिवारों में माता को कुलदेवी...

Feature2 years ago

कुलदेवी के रूप में होती है ‘मां नागणेची’ की पूजा

कई परिवारों में कुलदेवी के रूप में मां नागणेची की पूजा की जाती है। मां नागणेची को नागणेच्या, चक्रेश्वरी, राठेश्वरी...

Feature2 years ago

इन गोत्रों में कुलदेवी की रूप में पूजी जाती सच्चियाय माता

सैन समाज के विभिन्न गोत्रों की कुलदेवी परिचय की श्रंखला में प्रस्तुत हैं सच्चियाय माता की जानकारी। सच्चियाय माता का...

Feature2 years ago

सैन समाज के इन गोत्रों के लिये खास है हजारों साल पुराना देवी का यह मंदिर

अर्बुदा देवी मंदिर को अधर देवी के नाम से भी जाना जाता है। मां अर्बुदा, मां कात्यायनी का ही रुप...

Feature2 years ago

नारायणी धाम: पानी कितने साल से आ रहा हैं, जानकार रह जायेंगे हैरान

नारायणी धाम पर कुंड से अटूट जलधारा का रहस्य आज भी कोई नहीं जान सका है। पानी की धार लगातार...

Feature2 years ago

कर्मावती कौन थीं और कैसे बन गई नारायणी, जानिये

विजयराय और रामहेती के घर एक बालिका जन्मी। नाम रखा गया कर्मावती। सयानी होने पर उनका विवाह करणेश जी के...

Trending

Don`t copy text!