Connect with us

Beauty Tips

मैनीक्योर और पेडीक्योर के बारे में जानकारी

Published

on

मैनीक्योर और पेडीक्योर ब्यूटी ट्रीटमेंट का हिस्सा है। हाथों को मुलायम और खूबसूरत बनाने के लिये मैनीक्योर किया जाता है। पंजो और पैरों की खूबसूरती के लिये पेडीक्योर करते है।

मैनीक्योर और पेडीक्योर ब्यूटी ट्रीटमेंट का हिस्सा है। हाथों को मुलायम और खूबसूरत बनाने के लिये मैनीक्योर किया जाता है। पंजो और पैरों की खूबसूरती के लिये पेडीक्योर करते है। हाथ और पैर के नाखूनों को भी इस ब्यूटी ट्रीटमेंट से आकर्षक बनाया जाता है।

 मीनाक्षी वर्मा, जयपुर

हेयर स्टाइल के लिये और फेस मेकअप पर बहुत ध्यान दिया जाता है। कई तरह के ट्रीटमेंट इनके लिये लेते है। अब हाथों और पैरों पर विशेष ध्यान दिया जाने लगाया है। ब्यूटी पार्लर हो या जेंट्स सेलून, मैनीक्योर और पेडीक्योर करवाने काफी ग्राहक आते हैं। मैनीक्योर और पेडीक्योर कई तरह से होता है। किस तरह का पेडीक्योर करना है और किस तरह का मैनीक्योर, यह स्किन देखकर तय होता है। हालांकि सामान्य मैनीक्योर और पेडीक्योर काफी लोकप्रिय है। तो आइये, जानते है मैनीक्योर और पेडीक्योर कैसे करते है?

सामान्य मैनीक्योर और पेडीक्योर के लिये सामग्री
Content To Prepare Manicure Pedicure

सामान्य मैनीक्योर और पेडीक्योर के लिये सबसे पहले निम्न लिखित सामग्री जुटा लें—

प्लास्टिक टब
बेबी शैम्पू
नमक – 1 चम्मच
नींबू – 1
गुलाब की पत्तियां – थोड़ी सी
डेटॉल – 2-3 बूंद
नेल पोलिश रिमूवर
कॉटन वूल
नेल कटर और फाइलर
नेल ब्रश
क्यूटिकल पुशर और क्रीम
क्रीम
नेल के लिये बेसिक कोट
नेल पोलिश
टॉप कोट

मैनीक्योर पेडीक्योर की विधि

  •  किसी अच्छे साबुन और पानी से अपने हाथ-पैर साफ कर लें।
  • कॉटन और नेल रिमूवर से पहले से लगी हुई नेल पोलिश को हटा दें। नेल रिमूवर किसी अच्छी कंपनी का इस्तेमाल करना चाहिये।
  •  प्लास्टिक टब में हल्का गुनगुना पानी भर लें। इसमें बेबी शेंपू की कुछ बूंद, एक चम्मच नमक, एक नींबू का रस डालें। इसे मिला लें। अब करीब 15 मिनट तक अपने हाथ—पैर इस पानी में रखें। बीच—बीच में स्क्रब करते रहे।
  • पैरों के नीचले हिस्से यानि एड़ियों को अच्छी तरह से स्क्रब करें। इसके बाद हाथ और पैरों को सादा पानी से धो लें। हल्का सा आॅलिव आॅयल भी लगा सकते है।

ब्यूटी टिप्स: मैनीक्योर और पेडीक्योर करने के 5 बेस्ट तरीके

नाखूनों इस तरह बनाये खूबसूरत

  • नेल कटर से नाखूनों को सही आकार दें। ध्यान रखे कि नाखून के उपर की लेयर अंगुलियों से थोड़ी बाहर होनी चाहिये। आप इन्हें बड़े भी रख सकती है। इन सभी को नेल कटर, ट्रिमर और फाइलर की मदद से बराबर आकार दें।
  • यह काम आराम से करें। जल्दबादी में नाखून खराब हो सकते है। धीरे—धीरे फाइलर से घिसेंगे तो नाखून मजबूत बने रहेंगे।
  • सैंडपेपर से नाखूनों की उपरी परत को हल्का सा घिसे। ज्यादा ना घिसे नहीं तो नाखून कमजोर हो जायेंगे।
  • अब नाखून के पीछे हिस्से में क्यूटिकल्स को सावधानी पूर्वक हटाये। यह काम ध्यान से करना चाहिये। दरअसल ये क्यूटीकल्स नाखूनों को संक्रमण से बचाते है। इसके लिये आप आइक्रिम स्टिक या क्यूटिकल पुशर की मदद ले सकते है।
  • अब हाथों को अच्छी तरह एक बार धो ले और उन पर तेल या क्रीम लगाये। हल्की मसाज करें। पांच से सात मिनट तक यह काम करें। इसके बाद नाखूनों पर लगे तेल या क्रीम को रिमूवर की मदद से हटा दें।
  • यह इसलिये करना है ताकि नेल पॉलिश ज्यादा समय तक टिकी रहे।
  • अब नाखूनों पर बेस कोट लगाये। इसे करीब पांच मिनट तक सूखने दें।
  • बेस कोट अच्छी तरह सूख जाये तो नेल पॉलिश लगाये। नेल पॉलिश लगाने से पहले बोतल को अच्छी तरह से हिलाकर मिक्स कर लें। ब्रश से सभी नाखूनों पर नेल पॉलिश की एक कोट लगाये और इसे सूखने दें। इसके बाद दूसरी कोट लगाये। इसके बाद टॉप कोट लगाये। आप नेल आर्ट से भी अपने नाखूनों को खूबसूरत बना सकते है।

ब्यूटी टिप्स: मैनीक्योर और पेडीक्योर करने के 5 बेस्ट तरीके

यदि आप इस कॉलम के लिये लिखना चाहते है या ​कोई अन्य जानकारी शेयर करना चाहते है तो आपका स्वागत है। आप हमारे वाट्सएप नंबर 8003060800 पर संपर्क कर सकते है। लेख आपके नाम और फोटो के साथ से प्रकाशित किया जायेगा। मौलिकता का जरूर ध्यान रखें।

Spread the love
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Beauty Tips

ब्यूटी टिप्स: मैनीक्योर और पेडीक्योर करने के 5 बेस्ट तरीके

Published

on

ब्यूटी ट्रीटमेंट मैनीक्योर और पेडीक्योर करने के कई तरीके है। कुछ तरीके काफी सरल और असरदार है। इन्हें आप घर पर भी अजमा सकते है। कुछ तरीके ऐसे है जो एक्सपर्ट की देखरेख में ही अपनाये तो ठीक रहता है।

मीनाक्षी वर्मा

आइयें मैनीक्योर और पेडीक्योर करने के तरीकों के बारे में जानते है। स्किन के अनुसार आप कोई एक तरीका चुन सकते है। आपको बता दें कि मैनीक्योर हाथों को और पेडीक्योर पैरों को सुंदर और मुलायम बनाने का तरीका है। इन ब्यूटी ट्रीटमेंट से हाथ और पैरों की डेड स्किन सेल्स को हटाया जाता है। यानि स्किन टैनिंग की प्राब्लम खत्म होती है। आपकी खूबसूरती बढ़ती है। आजकल हैंडसम दिखने के लिये पुरूष भी मैनीक्योर और पेडीक्योर करवाते है।

1. बेसिक मैनीक्योर और पेडीक्योर

मैनीक्योर और पेडीक्योर का यह सबसे सिंपल तरीका है। आमतौर पर यही तरीका सबसे ज्यादा अपनाया जाता है। इसे आप घर में भी अजमा सकते है। सबसे पहले अपने हाथ और पैरों को गुनगुने पानी में 15 मिनट तक डुबा कर रखें। फिर उन पर हल्के गर्म तेल की मालिश करें। इसके बाद अपने नाखूनों को ठीक करें। इससे हाथ और पैर खूबसूरत नजर आयेंगे। मैनीक्योर और पेडीक्योर का यह बहुत साधारण तरीका है। यह ब्यूटी ट्रीटमेंट आप 15 दिन में कम से कम एक बार घर पर ही कर सकते है। आप पानी में चंदन का पाउडर, गुलाब की पत्तियां या नीम की कुछ पत्तियां भी डाल सकते है।

नाखूनों को खूबसूरत बनायें, ये है तरीका

 

ड्रॉय स्किन के लिये पैराफिन मैनीक्योर और पेडीक्योर

आपकी स्किन ड्रॉय और डल है तो उसके लिये आप पैराफिन मैनीक्योर और पेडीक्योर कर सकते है। पैराफिन मैनीक्योर पेडीक्योर में पैराफिन वैक्स (मोम) का प्रयोग किया जाता है। इसके लिए सबसे पहले पैराफिन वैक्स को हल्का गुनगुना करते है और फिर हाथों पैरों को कुछ समय के लिए इसके अंदर डूबो कर रखा जाता है। वैक्स के मैनीक्योर से हाथ और नाखून सुंदर और चमकदार बनते हैं और हाथों में सॉफ्टनेस आती है। यह तरीका एक्सपर्ट की देखरेख में अपनाया जाना चाहिये। वैक्स ज्यादा गरम होने पर आपको नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिये पूरी सावधानी के साथ यह ब्यूटी ट्रीटमेंट लें। पैराफिन वैक्स आप बाजार से खरीद सकते है।

 अमेरिकन स्टाइल मैनीक्योर

अमेरिकन मैनीक्योर पेडीक्योर में नैचुरल शाइन लाने के लिए एरोमैटिक सॉल्ट से मसाज किया जाता है। एरोमैटिक सॉल्ट से हाथों में मॉइश्चर बना रहता है और नसों में ब्लड सर्कुलेशन भी अच्छा रहता है। इसी कारण इसे करने से हाथ—पैर काफी खूबसूरत नजर आते हैं।

 जेल मैनिक्योर पेडीक्योर

जेल मैनीक्योर पेडीक्योर ज्यादा अच्छा माना जाता है। इससे हाथ और पैरों की चमक लंबे समय तक बरकरार रहती है। इस तरह के मैनिक्योर पेडीक्योर में जेल की मात्रा ज्यादा होती है इसलिए ये हाथ और पैर के नैचुरल मॉइश्चर को लॉक करता है। इससे रूखापन नहीं होता है।

 फ्रेंच मैनीक्योर पेडीक्योर

हाथों को सुंदर बनाने के लिए फ्रेंच मैनीक्योर भी अच्छा विकल्प है। इसके लिए सबसे पहले आप अपने हाथों अच्छी तरह से स्क्रब कर मसाज करें और नाखूनों को साफ करें। इसके बाद नाखूनों को शेप देते हुए उसके आसपास की रूखी त्वचा की अच्छी तरह सफाई करें। अब इनपर पेट्रोलियम जैली लगाएं और फिर नाखूनों के ऊपरी हिस्से पर सफेद रंग की पॉलिश लगाएं।

 यदि आप इस कॉलम के लिये लिखना चाहते है या ​कोई अन्य जानकारी शेयर करना चाहते है तो आपका स्वागत है। आप हमारे वाट्सएप नंबर 8003060800 पर संपर्क कर सकते है। लेख आपके नाम और फोटो के साथ से प्रकाशित किया जायेगा। मौलिकता का जरूर ध्यान रखें।

 

Spread the love
Continue Reading
Advertisement

Facebook

कुलदेवी

My Kuldevi2 years ago

श्रीबाण माता को कुलदेवी के रूप में पूजते है ये परिवार

श्री बाण माता का मुख्य मंदिर राजस्थान के चित्तौड़गढ़ में स्थित है। ब्राह्मणी माता, बायण माता और बाणेश्वरी माता जी...

Feature3 years ago

जमवाय माता को सैन समाज के कई परिवार मानते है कुलदेवी

जमवाय माता भगवान राम के पुत्र कुश के वंश कछवाहा की कुलदेवी है। सैन समाज में कुछ परिवार ऐसे हैं...

Feature3 years ago

सैन समाज के कई परिवारों की कुलदेवी है जीण माता

जीण माता कई परिवार एवं गोत्रों की कुलदेवी है। सैन समाज में भी कई गोत्र ऐसे हैं जो जीण भवानी...

Feature3 years ago

गलाना गांव में है इस गोत्र की कुलदेवी का प्राचीन मंदिर

गलाना गांव में  प्राचीन मंदिर आस्था का केंद्र है। यह गांव कोटा में जिला मुख्यालय से करीब 18 किमी दूर...

Feature3 years ago

भादरिया माता को कुलदेवी के रूप में पूजते है ये

श्री भादरिया माता का मंदिर जन-जन की आस्था का केंद्र है। विभिन्न समाजों में कई परिवारों में माता को कुलदेवी...

Feature3 years ago

कुलदेवी के रूप में होती है ‘मां नागणेची’ की पूजा

कई परिवारों में कुलदेवी के रूप में मां नागणेची की पूजा की जाती है। मां नागणेची को नागणेच्या, चक्रेश्वरी, राठेश्वरी...

Feature3 years ago

इन गोत्रों में कुलदेवी की रूप में पूजी जाती सच्चियाय माता

सैन समाज के विभिन्न गोत्रों की कुलदेवी परिचय की श्रंखला में प्रस्तुत हैं सच्चियाय माता की जानकारी। सच्चियाय माता का...

Feature3 years ago

सैन समाज के इन गोत्रों के लिये खास है हजारों साल पुराना देवी का यह मंदिर

अर्बुदा देवी मंदिर को अधर देवी के नाम से भी जाना जाता है। मां अर्बुदा, मां कात्यायनी का ही रुप...

Feature3 years ago

नारायणी धाम: पानी कितने साल से आ रहा हैं, जानकार रह जायेंगे हैरान

नारायणी धाम पर कुंड से अटूट जलधारा का रहस्य आज भी कोई नहीं जान सका है। पानी की धार लगातार...

Feature3 years ago

कर्मावती कौन थीं और कैसे बन गई नारायणी, जानिये

विजयराय और रामहेती के घर एक बालिका जन्मी। नाम रखा गया कर्मावती। सयानी होने पर उनका विवाह करणेश जी के...

Trending

Don`t copy text!